इस Blog में Benefits Of Long Term Investment in Stock Market यानी शेयर बाजार में दीर्घकालिक निवेश के फायदे क्या-क्या होता है आपको पता चल जायेगा

Benefits Of Long Term Investment in Stock Market (शेयर बाजार में दीर्घकालिक निवेश के फायदे) :-

हमने पहले पाठ में देखा की बचत जरूरी है और साथ ही दूसरे विकल्प देखे की बचत का Invest (निवेश) कहा करना चाहिए और उसमें हमारे पैसों की वृद्धी होती रहे, यह देखाना जरूरी है।

शेअर बाज़ार में निवेश किए पैसों के वृद्धी का दर सामान्यरूप से दुसरे Invest (निवेश) से ज्यादा होता है पर उसमें जोखिम (Risk) भी अधिक मात्रा में होता है।

जब हम शेअर बाज़ार में काम करते है, तब हमें कंपनी की जानकारी होना आवश्यक है।

कई वर्षों के तजुर्बे से यह पता चलता है कि सारे रूपए सिर्फ एक ही स्क्रिप्ट पर ना लगाकर, अलग अलग स्क्रिप्ट में Invest (निवेश) करना ही उत्तम मार्ग है।

इस बाज़ार में अपनी बुद्धी के अनुसार ठिक तरह आयोजन किया तो हम बहुत ज्यादा मुनाफा कमा सकते है।

आपने सुना होगा कि इस बाज़ार में कई भाग्यशाली लोगों ने खुद के पैसे सात आठ वर्षो में १० से १२ गुना बढ़ाए है। मगर कुछ लोगों पर इसी बाज़ार के कारण अपने घर तक बेचने की नौबत आई है।

इसलिए ठिक तरिके से आगे बढे उसी में निवेशक का फायदा है। इस शेअर बाज़ार में अगर हमने बाहरी दुनिया में घटनेवाली घटनाओं के अनुसार ठिक तरह से नियोजन किया तो हमें आगे जाने में दिक्कत नहीं होगी।

इस शेअर बाज़ार में एक दिन में किए जानेवाले लेन देन से अथवा Intraday trading (इन्ट्राडे ट्रेडिंग) से हमें दुर रहना चाहिए

क्योंकि उसमें हमें किसी भी तरह का फायदा नहीं होता है और अगर फायदा हुआ भी तो दस दिन का फायदा एक दिन के नुकसान में निकल जाता है, यह इतिहास कहता है।

इसलिए Intraday trading (इन्ट्राडे ट्रेडिंग) याने एक दिन का लेन देन बहुत खतरनाक है। इस व्यवहार में अगर हमें मालूमात है तो जोखिम कम हो जाता है और उसमें फायदा भी अधिक होता है।

इसमें ज्यादा पूंजी की जरूरत नहीं होती। जिसके पास अनुभव और कम पूंजी है वही यह व्यवहार करते है। नए लोगों को या जिन्हे अनुभव कम है, उनको यह व्यवहार नहीं करना चाहिए।

Benefit of Investment in Reliance Industries (रिलायन्स इंडस्ट्री में निवेश किए शेअर का फायदा) :-

Example:-

बाज़ार में अगर किसी Investors (निवेशक) ने १९७७ में Reliance Industries Ltd में हजार रूपए Invest (निवेश) किए और उसे वह शेअर आज के मार्केट में बेचने है

तो आज के दिन (२०२० – २०२१) में उनका भाव 2180 है और उसके किए गए Invest (निवेश) का बाज़ार मूल्य लगभग 22,५०,००० रूपयों है। यह Investors (निवेशक) का होने वाला फायदा है।

साथ ही १९७७ से अब तक निवेशक को लगभग 75,००० रूपयों का Dividend (डिविडन्ड) भी मिला है।

ऊपर के उदाहरण को पढ़कर आपको ऐसा लगेगा की Share Market (शेअर मार्केट) में आदमी का सिर्फ फायदा ही होता है

लेकिन ऐसा नहीं है क्योंकि इस मार्केट में हर्षद मेहता और केतन पारेख के समय बहत लोगों को शेअर बाज़ार में किए अपने Invest (निवेश) में बड़ा नुकसान उठाना पड़ा था।

केतन पारेख और हर्षद मेहता के समय लोगों ने जो पैसें Invest (निवेश) किए थे उस वक्त उन लोगों को १००, २०० रूपयों के ४०० रूपए, ४०० के ६०० ।

रूपए इस तरह दुगना, तीगना भाव मिल रहा था।लेकिन लोगों ने लालच करके शेअर की बिक्री नहीं की।

उसके बाद उन दोनों का भ्रष्टाचार सामने आया जिसके कारण शेअर्स के भाव एकदम गिर गए और लोगों को किसी भी प्रकार का फायदा ना होकर उनको अपने Invest (निवेश) में बड़ा नुकसान उठाना पड़ा था।

जब लोगों को शेअर बेचने थे तब मार्केट में मंदी आ गई। इसलिए अगर आपके Invest (निवेश) पे २० से २५ प्रतिशत फायदा मिल रहा है तो वह बुक कर लेना चाहिए।

उस समय यह फायदा सिर्फ पेपर पर ही देखने मिला और लोगों ने उस वक्त वह लिया नहीं।

उस वक्त मार्केट में जिन शेअर के भाव १००० रूपयों से १५०० – २००० हो गए थे उन शेअर के भाव गिरकर ३० – ४० रूपए हो गए।

जब हर्षद मेहता ने घोटाला किया था, उस वक्त कई स्क्रिप्ट का भाव १००० रूपयों से ३०० रूपयों पर आया था।

जिन कंपनीयों का Fundamental (फंडामेंटल) अच्छा था उनके स्क्रिप्ट का भाव आज के बाज़ार में २००० रूपए या उससे भी ज्यादा है पर जिन कंपनीयों का Fundamental (फंडामेंटल) अच्छा नहीं था स्क्रिप्ट का भाव आज के बाज़ार में ३० रूपए या उससे भी कम है।

अब शेअर बाज़ार में बहुत तेजी आई है। सेंसेक्स ३६०००, ३७००० पॉईन्ट ऊपर है। फिर भी जिन कंपनीयों का Fundamental (फंडामेंटल) अच्छा नहीं है उनका भाव आज भी वही है।

इसलिए जिस कंपनी का Fundamental (फंडामेंटल) अच्छा है उसी में हमें Invest (निवेश) करना चाहिए। निवेशकों को ध्यान से अपना पैसा अच्छे स्टॉक में लगाकर मुनाफा लेना चाहिए।

Market (मार्केट) में किए Invest (निवेश) पर हमें अगर २० से २५ प्रतिशत मुनाफा मिल रहा है तो वो बुक करके वह रक्कम दुसरे किसी भी अच्छे स्टॉक में लगानी चाहिए। इससे Market (मार्केट) में हमें फायदा ही फायदा मिल सकता है।

शेअर मार्केट में अच्छे कंपनी के शेअर अगर हम खरीदते है तो वह कंपनी हमें सालभर में दो से तीन बार Dividend (डिविडेंड) देती है।

Dividend (डिविडेंड) की रक्कम सरकार ने करमक्त रखी है। कभी कंपनी को अगर अच्छा फायदा हुआ तो सेबी के नियमोनुसार वो बोनस और राईट शेअर निवेशक को देती है।

यह सब Investors (निवेशको) का अलग फायदा हुआ। अगर आप १ वर्ष के अंदर अपने शेअर की बिक्री करके फायदा लेते है

तो उस पर आपको १०% से आयकर भरना पड़ता है और एक वर्ष से अधिक समय के Invest (निवेश) से आपको मुनाफा मिला तो उसमें किसी भी प्रकार का टॅक्स नहीं लगता।

।। धन्यवाद ।।

Important Links :-

Open Demat Account in Zerodhahttps://zerodha.com/?c=NH6775

78 / 100
श्रेणी: Share Market

1 टिप्पणी

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

hi_INHindi