क्रेडिट रेटिंग और क्रेडिट रेटिंग एजेन्सीयाँ (Credit Rating & Credit Rating Agencies)

इस Blog में आपको Credit Rating क्या है और Credit Rating Agencies In India यानि भारत की Credit Rating Agencies को जानने को मिलेगा।

Credit Rating क्या है ?

Credit Rating (क्रेडिट रेटींग) अथवा ऋण पात्रता मूल्यांकन, यह Securities and Exchange Board of India (SEBI) (सेबी) के Credit Rating Agencies Regulation (क्रेडिट रेटींग एजन्सी रेग्युलेशन) १९९९ के अंतर्गत किया जाता है।

यह Regulation Fixed Deposit (रेग्युलेशन फिक्स डिपोजिट), Foreign Exchange (फॉरेन एक्सचेंज),Country Rating (देश की रेटींग),Real Estate (रिअल इस्टेट) इनके खतरे का नापतौल नहीं करते।

वह सिर्फ Security (सिक्योरिटी) से संबंधित ऋण पात्रता मूल्यांकन का नापतील करते है।

Credit Rating Agencies (क्रेडिट रेटिंग एजेन्सीया) CRA (सी.आर.ए.) यह पब्लिक Financial Institutions (फायनानशियल इन्स्टीटयुशन), Schedule Commercial Bank (शेडयूल कमर्शियल बैंक), Foreign Banks Established In India (भारत में स्थापीत हुई विदेशी बैंक), Foreign Credit Rating Agency (विदेशी क्रेडिट रेटींग एजन्सी) इत्यादि स्थापन कर सकते है

इसके लिए उनको इस क्षेत्र में कम से कम ५ वर्षों का अनुभव होना चाहिए अथवा चालू वर्ष के पहले के ५ वर्षो में उनका नेट वर्थ कम से कम १०० करोड़ होना चाहिए।

Credit Rating Agencies in India (भारत की क्रेडिट रेटींग एजेन्सीयाँ) :-

१. CRISIL (क्रेडिट रेटींग इनफॉरमेशन सर्विस ऑफ इंडिया लिमिटेड) :-

इस कंपनी की स्थापना सन् १९८७ में हुई थी। यह भारत में Credit Rating (क्रेडिट रेटींग) करनेवाली, उस पर संशोधन करनेवाली और उस पर सुझाव निकालनेवाली प्रमख कंपनी है।

इसकी प्रतिष्ठा और सख्त विश्लेषन करने का तरिका असाधारण है।

२. ICRA (इनवेस्टमेंट इनफॉरमेशन अँड क्रेडिट रेटींग एजेन्सी ऑफ इंडिया) :-

इस कंपनी की स्थापना सन् १९९१ में हुई थी। यह एक स्वतंत्र और प्रोफेशनल कंपनी है। यह निवेश से संबंधित सही जानकारी देनेवाली और खतरे का नापतौल करनेवाली मुख्य कंपनी है।

इसकी सेवाए भारत तथा विदेश में भी उपलब्ध है।

३. CARE (क्रेडिट एनालिसिस एंड रिसर्च लिमीटेड) :-

इस कंपनी की स्थापना सन् १९९३ में हुई थी। Credit Rating (क्रेडिट रेटींग) करनेवाली, उसकी जानकारी देनेवाली इस कंपनी की स्थापना आयडीबीआय बैंक, कॅनरा बैंक, युटीआय बैंक, दुसरे लिडींग बैंक और फायनानशियल सर्विसेस कंपनीज इत्यादि ने की है। इस कंपनी के कुल १४ शेअर धारक है।

यह कंपनी गव्हरमेंट ऑफ इंडिया के निर्देश से चलती है और साथ ही रेग्युलेटरी ऑथोरिटी जैसे कि, Reserve Bank of India (RBI) और Securities and Exchange Board of India (SEBI) सेबी के निर्देश से काम करती है।

।। धन्यवाद् ।।

Important Links :-

Open Demat & Trading Account in Zerodhahttps://zerodha.com/?c=NH6775

75 / 100
Categories: Share Market

1 Comment

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *