Discount Cash Flow Method (DCF) :-

Discount Cash Flow Method (DCF) यह वही Method है, जिसकी मदत से आप Stock की Intrinsic value निकाल सकते हो। Free Cash Flow Formula कैसे Calculate करते है.

Discount Cash Flow Method Valuation कि काफी Popular method है। Discount Cash Flow का Concept बहुत ही Simple है

Discount Cash Flow Method को समझने के लिए हमें समझना होगा की Free Cash Flow क्या होता है? और उसे कैसे निकालते हैं? Free Cash Flow मतलब सारे Expenditures (उठाव/खपत) होने के बाद कितना Cash कंपनी के पास है

What is Free Cash Flow.

ये वो Cash Flow होता है जो सारे Expenditures और Maintenance होने के बाद बच जाता है, इसलिए इसे Free Cash Flow कहते हैं

फिर कंपनी उस Cash Flow उपयोग किसी भी चीज के लिए कर सकती है। जैसे कि कंपनी उस Cash से Dividend दे सकती है, Business acquire कर सकती है, Share by back कर सकती हैं। तो देखते हैं

Free Cash Flow Formula :-

Free Cash Flow Formula कैसे Calculate किया जाता है। Free Cash Flow का Formula है :-

Free Cash Flow Formula = Operating Cash Flow – Capital Expenditures

Free Cash Flow :-

अब सवाल यह भी आता है कि Net Profit और Free Cash Flow (FCF) मे क्या difference होता है? Revenues मे से सारे Expenses निकालने के बाद और Interest, Taxes, Depreciation & amortization हमे Net Profile मिलता है

पर अगर Company ने 100 crore का Net Profit कमाया है तो इसका मतलब ये नाही की Company के पास 100 Crore Cash है, इसके पीछे कइ कारण है

जैसे की Accrual Account Method, Non Cash Expenses etc. Accrual Accounting Method से जो Financial Statements बनते है

उन्मे Revenue को तब Record किया जाताहे जब transaction पुरा होता है, नाकी तब जब Company को उस transaction का पैसा मिलता है

तो Accrual Accounting Method मे transaction Basis पर सारे Record किये जाते है, Cash Basis पर नाहीं। Net Profit एक Initial Point होता है

Cash Flow Statement :-

असली Picture तो आपको Cash Flow Statement पर देखने मिलता है क्यूँ की Cash Flow Statement पे आपको Company की Actual Movement देखने मीलती है की कितना पैसा Company के पास आया है और कितना पैसा गया है

दुसरी Important चीज ये है की Cash Flow Statement को Menu Plate करना बहुत Difficult होता है क्यूकी Assumptions को Cash Flow Statement पर कोई जगह नही होती.

Calculate Intrinsic Value :-

Discounted Cash Flow Method से Stock की Calculate Intrinsic Value निकालने के लिये आपके पास तीन चिजे होनी चाहीये।

  1. आपको Company का Growth Analysis करके ये Predict करना होता है की आनेवले सालो मे Company का Cash Flow किस Rate से बडेगा
  2. Terminal Growth Rate याने आनेवले दस साल बाद Company का Growth Rate क्या रहेगा.
  3. Discount Rate, इस्को समजने से पहले हमे Net Present Value इस Concept को समजना होगा.

जो अगले Part मे होगा। Discounted Cash Flow Method मे जो Important और Difficult चीज जो है वो है Future Cash Flow को Predict करना

Common Sense की मदत से और Reasonable Analysis की मदत से ये चीझ आसानी से कर सक्ते हो

अगर आप Company का Past Performance देखकर उस्के Future Growth का Prediction करोगे तो आप Problem मे फस सक्ते हो

तो ध्यान रखें Common Sense और Reasonable Analysis। किसी भी Company का Free Cash Flow Predict करने के लिये

आपको उस Company की End up जाणकारी होनी चाहीये आपको उस Business की समझ होनी चाहीये

For example :-

अगर आप किसीं Company का Valuation Discounted Cash Flow Method से निकाल रहे हो तो आपको उस्के Future Cash मे उसकी Growth Rate पता करने के लिये Business की अछि समझ होनि चाहीये.

अपको Rubber Business की भी अच्छि समझ होनी चाहीये, अपको ये भी पता होणा चाहीये की उस Company के Products End Users कोन है, कोन्से Company के लिये Tyre बनाती है,

उनकी Demand कैसी है और कोन-कोन्सी Company उनके लिये Tyre बनाती है। साथ ही आपको ये भी Check करना होगा की इस Company के पास आयेसी कोनसी चिझे हैं जिस्से Competition मे आगे रहने मे मदत होगी

इन जैसी सारी चिझे आपको पता होनी चाहीये, और फिर अपना Common Sense Use करके आपको Free Cash Flows की Growth Rate निकालनि होगी

अगर आप ऐसेही तुक्का लागा कर Future Cash Flow की Growth Predict करोगे तो Valuation निकालने का कोई मतलब ही नही है।

।। धन्यवाद ।।

Important Links :-

Open Demat & Trading Account in Zerodhahttps://zerodha.com/?c=NH6775

80 / 100

3 टिप्पणियाँ

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

hi_INHindi