क्या आपको पता है की शेअर बाजार पर परिणाम करने वाले घटक – Factors Influencing the Stock Market in Hindi. अगर आपको पता नहीं है तो आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़े.

शेअर बाजार पर परिणाम करने वाले घटक – Factors Influencing the Stock Market in Hindi.

शेअर बाजार में जब अधिक तेजी आती है तब ज्यादातर शेअर के भाव बढ़ते है और मंदी आती है तब ज्यादातर शेअर के भाव निचे आते है ऐसा आम तौर पर देखा जाता है।

पर कभी कभी मंदी में कुछ कंपनीयों के शेअर के भाव निचे नही जाते और वैसे ही तेजी में भी कुछ कंपनीयों के शेअर के भाव ऊपर नही जाते।

इससे यह स्पष्ट होता है कि कंपनीयों के शेअर के भाव पर बहुत से बाहरी घटको का प्रभाव होता है।

इस अध्याय में हम यह देखते है कि कौन कौन सी बाते शेअर बाजार पर परिणाम करती है।देश की आर्थिक परिस्थिति, फुगावा, दुसरे देश की आर्थिक परिस्थिति वगैरह सभी घटक शेअर बाजार पर परिणाम करते है।

अधिक वर्षा, अकाल, अनाज का नुकसान, बेरोजगारी ऐसे घटक शेअर बाजार पर परिणाम करते है।

बैंक का ब्याज दर, रिजर्व बैंक के नियम और कानून, अमरिका के फेड रेट्स का फर्क, बँक ओफ जपान के निती नियम में फेरफार, वगैरह सभी शेअर बाजार पर परिणाम करते है।

बाढ़, सुखा अथवा किसी और नैसर्गिक समस्या के कारण जमिन खराब होती है। इससे फसलो का बहुत नुकसान होता है।

इस कारण जो कंपनीयाँ जैसे तंबाकू, सक्कर, कपास, ऐसे फसलो पर निर्भर होते है उनके शेअर में बहुत बदलाव आता है।

किसी कारण कच्चे माल का उत्पादन नही हुआ तो कंपनी को उत्पादन शुरू रखने के लिए विदेश से कच्चे माल की आयात करनी पड़ती है।

इस कारण कंपनी के उत्पादों की किमत बढती है। जिससे कंपनी को मुनाफा कमाने की क्षमता पर परिणाम होता है और उसके शेअर के भाव पर परिणाम होता है।

कभी कभी बिजली का वितरण अनियमित होता है। मजदूरो का आंदोलन होता है। लोगो की खर्च करने की क्षमता कम हो जाती है। इन सब का शेअर बाजार पर परिणाम होता है।

देश में आनेवाली नैसर्गिक आपत्तिाया जैसे की भूकंप, तुफान, ज्वालामुखी आदि के कारण उस जगह की कंपनी के प्रोडक्शन पर उसका बहुत परिणाम होता है।

इसीलिए उस कंपनी के भाव शेअर बाजार में घटते है। अगर कही युद्ध हुआ तो उसका परिणाम भी पूरी दुनिया के शेअर बाजार पर होता है।

अपने देश के चलन में रिवॅल्युएशन या डिवॅल्युएशन आया तो इसका बहुत बडा परिणाम शेअर बाजार पर होता है। साथ ही उसका परिणाम विदेश के शेअर बाजार पर भी होता है।

सरकार का कानून जैसे की इन्कम टॅक्स, सेल्स टॅक्स, एक्ससाईज के नियमो में बदलाव हुआ तो उसका परिणाम भी शेअर बाजार पर होता है।

दुनिया के इंडेक्स जैसे की अमेरिका का डोवजोन्स और नासदेक युके का एफटीएसइ १००, जर्मनी का डेक्स, जापान का निक्की, हाँग काँग का हेंगसॅन, साउथ कोरिया का कोस्पी, सिंगापूर का स्ट्रेट टाईम्स इन सब में बडा बदलाव आया तो उसका प्रभाव भी भारतीय शेअर बाजार पर होता है।

सरकारी पॉलिसि में कोई बदलाव हुआ तो उसका परिणाम शेअर बाजार पर होता है।

बजेट का भी परिणाम शेअर बाजार पर होता है। हमारे देश में सामान्यत: बजेट फरवरी में आता है। वह दो विभागो में होता है।

एक रेल्वे बजेट और दुसरा वित्तिय बजेट। रेल्वे बजेट में फेरफार हुआ तो उसका शेअर बाजार पर कम परिणाम होता है पर वित्तिय बजेट शेअर बाजार पर बहुत बडा परिणाम करता है।

बजट की घोषणाओं का शेअर बाजार के अलग अलग सेक्टर पर असर होता है। उदाहरण देकर बताना हो तो बजेट में सिमेंट पर की एक्ससाईज ड्यूटी बढ गई तो उस सेक्टर के कंपनी के शेअर की किमत बहुत कम हो जाती है।

वैसे ही ऑटोमोबाईल में अगर एक्ससाईज ड्यूटी कम हुई तो उस सेक्टर के कंपनी के शेअर की किमत बहुत बढ़ जाती है।

नोटः

संक्षिप्त में बाहरी तत्व शेअर बाजार पर बहुत असर करते है इसीलिए शेअर बाजार में व्यवहार करते समय उन तत्वो पर ध्यान रखना जरूरी है।

हम आशा करते है की हमारी ये शेअर बाजार पर परिणाम करने वाले घटक – Factors Influencing the Stock Market in Hindi. ब्लॉग पोस्ट आपको पसंद आयी होगी अगर आपको शेयर मार्किट से जुड़ा कोई भी सवाल है तो आप कृपया कमेंट में जरूर पूछे।

।। धन्यवाद ।।

Important Links:-

Open Demat & Trading Account in Zerodha – https://zerodha.com/?c=NH6775

76 / 100
श्रेणी: Share Market

3 टिप्पणियाँ

शेअर बाजार की जानकारी हासिल करने के मार्ग - Sources Of Stock Market Information In Hindi. · दिसम्बर 27, 2020 पर 9:22 अपराह्न

[…] शेअर बाजार पर परिणाम करने वाले घटक – Facto… […]

ऑप्शन स्ट्रॅटेजीज - Options Strategy Basic For Beginners Hindi. · दिसम्बर 29, 2020 पर 8:12 अपराह्न

[…] शेअर बाजार पर परिणाम करने वाले घटक – Facto… […]

लाँग कॉल ऑप्शन स्ट्रॅटेजी - Long Call Option Strategy In Hindi · जुलाई 9, 2021 पर 8:17 अपराह्न

[…] शेअर बाजार पर परिणाम करने वाले घटक – Facto… […]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

hi_INHindi