शेअर धारक को क्या करना चाहिए और क्या नहीं (General Do’s & Don’ts for Investors in Hindi)

क्या करना चाहिए (Do’s):

  • हमेशा सेबी SEBI के पास रजिस्टर हुए शेअर दलाल के साथ ही व्यवदा करना चाहिए।
  • अपने सभी निवेश किए पैसों के दस्तावेज की नमुना कॉपी (Copy of Investment Document) अपने पास ही रखनी चाहिए। उदा. अर्जी पत्र करारनामा।
  • आपने कंपनी को भेजे हुए दस्तावेजों की नमुना कॉपी खुद के पास रखिए।
  • अधिक महत्वपूर्ण कागजात विश्वासवाले पोस्ट या रजीस्टर ऐसे माध्यम द्वारा ही भेजीए।
  • आपके और कंपनी के बीच हुए करार के और आपके अकाऊंट के स्टेटमेंट संभालकर रखिए।
  • खरीदी करते समय आपके पास पूरे पैसे है या नहीं इसकी तसल्ली कीजिए।
  • बिक्री करते समय आपके पास उसके लिए कुछ जमानत है या नहीं इसकी तसल्ली कीजिए।
  • अगर कंपनी से आपको दिए गए समय में हुए व्यवहार के योग्य दस्तावेज नहीं मिले तो तुरंत ब्रोकर या कंपनी को संपर्क करना चाहिए।
  • व्यवहार की सुचना आपके ब्रोकर को स्पष्ट और व्यवस्थित माध्यम से पहुचानी चाहिए।
  • आपको डिमेट में व्यवहार करना है, या फिजीकल मार्ग से करना है यह पहले तय कीजिए।

क्या नहीं करना चाहिए (Dont’s):

  • सेबी के साथ रजिस्टर न किए ब्रोकर अथवा साब ब्रोकर के साथ व्यवहार मत कीजिए।
  • पहचान के लोगों से व्यवहार करते है, तो भी व्यवहार पूर्ण होनेपर आपके कागजात लेने मत भूलिए।
  • शेअर अवास्तव कीमत से बढ़ेंगे ऐसी झूटी धारणा मत रखिए।
  • कुछ कंपनीयाँ शेअर में व्यवहार करने के लिए सरकार की अनुमती मिली है ऐसा दिखाते है। परंतु कई बार उन्हें किसी दुसरे ही कारण से सरकार की अनुमती मिली होती है। शेअर के व्यवहार के लिए नहीं।
  • अफवाओं पर विश्वास मत रखिए।
  • आपकी पूंजी पोस्ट डेट चेक से वापिस मिलेगी ही ऐसा विश्वास मत रखिए।
  • शेअर बाज़ार से संबंधित व्यक्ति और संस्था से मार्गदर्शन लेने में कोई संकोच मत कीजिए।

।। धन्यवाद ।।

Links :-

Important Links :-

Open Demat & Trading Account in Zerodha  https://zerodha.com/?c=NH6775

58 / 100
श्रेणी: Share Market

3 टिप्पणियाँ

शेयरों की श्रेणी - Class Of Shares In Hindi · नवम्बर 25, 2020 पर 8:36 अपराह्न

[…] […]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

hi_INHindi