क्या आपको पता है की बाजार में कब प्रवेश करना चाहिए और कब निकलना चाहिए – How to do Intraday Trading Enter and Exit in Hindi अगर आपको पता नहीं है तो आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़े.

बाजार में कब प्रवेश करना चाहिए और कब निकलना चाहिए – How to do Intraday Trading Enter and Exit in Hindi

पहले हमने देखा की योग्य शेअर्स में योग्य समय पर निवेश करने के बाद उसमें से योग्य समय पर बाहर निकलने से हमें फायदा हो सकता है। यह बात डे ट्रेडर्स को हमेशा ध्यान में रखनी चाहिए।

ठिक समय पर आपने निवेश किया तो सफल होने की आपकी संभावना अधिक होती है। शेअर्स में सही समय पर निवेश करना भाव, समय और ट्रेडिंग का (एक्सिक्युशन) इन तीन बातों पर निर्भर होता है।

भाव और सही समय यह आपके नियंत्रण में होते है। आप समय के अनुसार उसमें खास सुधार कर सकते है। परंतु डे ट्रेडिंग का एक्सिक्युशन करना आपके हाथ में नहीं होता है।

ट्रेडिंग पर अमल करने में आप कितने सक्रिय होते है इस पर निर्भर होता है। आपको जिस भाव में ट्रेडिंग करना हो उस भाव में बाजार में शेअर्स उपलब्ध है या नहीं और तीसरा याने ट्रेडिंग करने की आपकी रित (ऑनलाईन या ऑफलाईन ट्रेडिंग) इस पर भी उसका आधार होता है।

आपके मन में ऐसा विचार आएगा की बाजार में आपने अच्छे समय पर प्रवेश किया तो सफल होने की संभावना अपने आप बढती है।

आप कोई ट्रेडिंग करने गए और वह नहीं हुआ तो वह पाने केलिए अंधे की तरह ट्रेडिंग मत कीजिए। आपके निश्चित किए भाव से अधिक प्रीमियम देना पड रहा हो तो उसे मत खरीदीए। यह जादातर डे ट्रेडरों द्वारा की जानेवाली एक अतिसामान्य गलती है।

स्टॅगर्ड एन्ट्री अप्रोच (Staggered Entry Approach) :

स्टॅगर्ड एन्ट्री अप्रोच में एक ही समय में शेअर्स का बडा लॉट खरीदने या बेचने के बजाय डे ट्रेडर अपनी पोजिशन धिरे धिरे बढाते है। इस प्रक्रिया को प्रोग्रेसिव्ह एन्ट्री अप्रोच कहके जाना जाता है।

आपको जिस स्क्रिप्ट में ट्रेडिंग करना हो उन शेअर्स में आपने निश्चित की कुल संख्या के ५० प्रतिशत या दो तृतीअंश इतने ही शेअर्स की खरीदी कीजिए।

उसके बाद अगर आपको लगे की बाजार की चाल के अनुसार उस स्क्रिप्ट में आपके सोच की तरह बदलाव हो रहा हो तो आप उस स्क्रिप्ट में अपनी पोजिशन को धिरे धिरे बढाते जाईए।

आप एक बात हमेशा ध्यान में रखीए की सबसे कम भाव में ही आपको शेअर्स खरीदने मिलेंगे यह असंभव है। उसी तरह से आपको सबसे अधिक भाव में ही शेअर्स बेचने का मौका मिलेगा यह भी असंभव ही है।

इसलिए आप शेअर्स की खरीदी अलग अलग भाव में ही कीजिए। वैसा करने से आपको अपनी एन्ट्री लेवल के बारे में स्थिति स्थापकता बनाने का समय मिलता है।

सफल हुए ट्रेडर्स में होनेवाले गुणों में खास करके ट्रेडिंग करने के आक्रमक शैली का गुण देखने मिलता है। बाजार गणित के विपरीत दिशा में चलता हो तो स्वयं की पोजिशन जल्दी से कम करते है ऐसा नजर आता है।

ट्रेडिंग के लिए आप का व्यूह सही होने का निर्देश आपको मिला तो आप अधिक आत्मविश्वास से और दृढता से निर्णय ले सकते है। आपका गणित सही है या गलत यह आप अपने ट्रेडिंग के जरिए ही पता कर सकते है।

आपका निश्चित किया व्यूह गलत हुआ तो आप का नुकसान बहुत कम होता है। क्योंकि उसके लिए जरूरी शेअर्स आपने पूरी संख्या में खरीदे हुए नहीं होते है।

धिरे धिरे आपकी पोजिशन बढाने से आपके व्यूह के कारण आपको छोटी पोजिशन में ही घाटा होता है और बडे नुकसान से आपका बचाव होता है। इस तरह से धिरे धिरे पोजिशन बढाने की आप की प्रक्रिया से आपकी पूँजी का रक्षण होता है।

शेअर्स के लिए अंधी दौड मत कीजिए (Don’t Chase Stocks):

जादातर ऐसा नजर आता है कि शेअर्स का भाव सिधी लाईन में नहीं बढता। शेअर्स का भाव सिधी लाईन में बढा तो भी कई बार थोडा करेक्शन आने की संभावना होती है।

तेजी का आलेख सिधे बढता हो तो भी कई जगह पर वह रूक जाता है। ऐसी स्थिति में आपके निश्चित किए भाव में ट्रेडिंग नहीं हुआ तो उसके लिए अधिक प्रीमियम देकर वह शेअर्स खरीदने का प्रयत्न मत कीजिए।

आपके निश्चित किए भाव की रेंज में ही जो कुछ मिलेगा उसकी आप ट्रेडिंग कीजिए। इसका अर्थ ऐसा नहीं कि उस शेअर्स में ट्रेडिंग करने का मौका आपने गँवा दिया है।

इसका अर्थ यह होता है कि फिलहाल वह शेअर्स खरीदने के लिए प्रीमियम देने के बजाय आप उस शेअर्स का भाव थोडा निचे आने के बाद फिर से उस में एन्ट्री कीजिए।

साधारण रूप से ट्रेडर्स शेअर्स खरीदने के लिए भाग दौड करते है ऐसा नजर आता है क्योंकि उन्हे एक ही बात हमेशा सताती है कि निवेश करने का अच्छा मौका वह गँवा देंगे। इसलिए किसी भी किमत में वह शेअर्स हासिल करने केलिए वे भागदौड करते है।

शेअर्स का भाव जैसे बढते जाता है वैसे आप अपनी पोजिशन बनाते जाइए। यह एक अच्छी बात है। परंतु आरंभ में ही आप जिस मौके का फायदा लेने से चूक गए उस मौके को या उस स्क्रिप्ट को भूल जाने में ही आपका हित है।

आपको फिर से उसी शेअर्स में ट्रेडिंग करके कमाई करने का दसरा मौका मिलने की संभावना होती है। कोई भी शेअर्स खरीदने केलिए अंधे की तरह उसके पिछे दौडना पैसे गँवाने का श्रेष्ठ मार्ग है।

आपके मन पसंद शेअर्स खरीदने केलिए आपका निश्चित किया भाव जलद गति से आगे बढ़ते गया और एकाएक उसका भाव गिर गया तो उस शेअर्स को ट्टे हुए तारे (Fallen Star) की तरह जाना जाता है। इस तरह के शेअर्स में निवेश करना टालना चाहिए।

जादातर अनुभवी ट्रेडर्स शेअर्स का भाव उन्होने निश्चित किए एन्ट्री लेवल से जादा बढने के बाद वह उनकी ट्रेडिंग करते है। शेअर्स के भाव में बहुत ही बडी बढोतरी हुई तो वह उनका शॉर्ट सेलिंग करते है।

क्योंकि इस शेअर्स का भाव निश्चित ऊँचाई पर जाने के बाद फिर से गिरकर निचे आने की संभावना अधिक होती है। दुसरे शब्दों में बताना हो तो दो चार कदम आगे जाने के बाद वह शेअर्स एक दो कदम पिछे आते ही है।

आपने जो शेअर्स खरीदने का निर्णय किया है और कुछ कारण से वह खरीदने के भाव रेंज में वह खरीदने का मौका आपने गँवाया और उसके बाद उस शेअर्स का भाव आपने निश्चित किए दिशा में ही बढते हुए नजर आया तो

आपको बहुत ही पश्चाताप होता है। ट्रेडर्स और निवेशकों ने इस प्रकार का मौका गँवाने के बाद फिर से वह मौका पाने केलिए वह लगातार प्रयत्न करते है।

उन्हे उसमें एन्टर होने का दुसरा मौका मिलेगा या नहीं इसका वह हमेशा विचार करते है। क्योंकि समय समय पर बाजार की स्थिति बदलती रहती है।

शेअर्स का भाव बढते और घटते रहता है। इस तरह से शेअर्स का भाव गिरने के बाद उस शेअर्स में ट्रेडिंग करना टालिए।

नोट (Note):

शेअर्स की शॉर्ट सेलिंग करते समय भी यही सिद्धांत लागू होता है। शेअर्स का भाव तीर्व गती से और अधिक प्रमाण में गिरा हो तो आप अंधे की तरह उसका शॉर्ट सेलिंग मत कीजिए।

एन्ट्री का समय – Intraday Trading Enter Timing in Hindi

डे ट्रेडिंग करनेवालो के लिए शेअर बाजार शुरू होने के बाद का एक घंटा और शेअर बाजार बंद होने से पहले का एक घंटा कमाई करने का अत्यंत महत्व का समय समझा जाता है।

सुबह ९.५५ से ११ के दरम्यान का समय साथ ही दुपहर को २.३० से ३.३० के दरम्यान के समय में मार्केट की हलचल उसके सर्वोच्च शिखर पर होती है।

इस समय में वोलॅटीलिटी और ट्रेडिंग का वोल्युम बहुत होता है। इस के परिणाम से ही फायदा कमाने का अधिकतम मौका इस समय के दरम्यान होता है। डे ट्रेडर्स ने इसी समय के दरम्यान नई पोजिशन खडी करने का प्रयत्न करना चाहिए।

बाजार शुरू होने के बाद की पहली ५ से १५ मिनिटों में बाजार में बहुत ही अफरातफरी का माहौल होता है। इसलिए पहली ५ से १५ मिनिटों में ट्रेडिंग करना टालना चाहिए।

अधिक उत्साह से या बहुत ही हताश होकर शेअर्स का भाव गॅप में, याने की कल के दिन के बंद भाव से अधिक या कम भाव से खुलते हुए नजर आता है।

परंतु बाजार के खिलाडी उसकी उलटी चाल पकडते है और फिर उसके भाव की चाल जल्दी ही बदली हुई नजर आती है।

यहा पर किसी भी शेअर्स का भाव खुलने के बाद स्थिर होने के लिए पाँच दस मिनट का समय दिया तो अफरातफरी का आपके निवेश पर प्रभाव होने का जोखिम कम होता है।

दुसरा यह की डिमांड और सप्लाय की स्थिति कैसी है इसका भी आपको अच्छी तरह से अंदाजा आता है।

बाजार में दोपहर के समय में व्हॉल्यूम और शेअर्स का भाव कम जादा होने की रेंज भी मर्यादित होती है। इसलिए इस समय में बाजार में पोजिशन खडी करना टालिए, खास करके दोपहर १२ से २ के बीच में।

एक्झिट का समय – Intraday Trading Exit Timing in Hindi

जैसे की पहले हमने चर्चा की शेअर में ठिक समय पर निवेश करना जरूरी है उसी तरह से ठिक समय पर उसमें से बाहर निकलना भी उतना ही महत्वपूर्ण है। आपके फायदे और घाटे का प्रमाण आप निवेश में से कब बाहर निकलते है इस पर निर्भर करता है।

साधारण रूप से ऐसा नजर आता है कि पोजिशन खडी करते समय ट्रेडर ने लेनी चाहिए उस से कई जादा सावधानी वह लेते है परंतु उस पोजिशन में से बाहर निकलते समय वह उतनी सावधानी नहीं बरतते। इस कारण उन्हे मिलनेवाला बडा फायदा वह गँवा देते है।

स्टॅगई एक्झीट अप्रोच (Staggered Exit Approach):

स्टॅगर्ड एक्झीट अप्रोच में एक ही समय शेअर्स की बिक्री (पोजिशन बंद करना) करने के बजाय डे ट्रेडर अपनी पोजिशन में से धिरे धिरे बाहर निकलते है।

इस प्रक्रिया को प्रोग्रेसिव्ह एक्झीट अप्रोच कहके भी पहचाना जाता है। इस तरह से पोजिशन में से बाहर निकलने से आप अपने फायदे को अधिकतम स्तर पर ले जा सकते है।

कुछ अंश में फायदा बुक करके लेने की प्रक्रिया का दुसरा फायदा यह है कि आपके स्वयं लगाया हुआ पैसा आपको पहले ही मिल जाता है और आपके पास बाकी बचे शेअर्स के पैसे यह आपका फायदा होता है।

ऐसी स्थिति में फायदे में ही घाटा होने का जोखिम होता है। फलस्वरूप आप अधिक साहस से और अधिक आत्मविश्वास से निर्णय ले सकते है।

आप अपने पास की होल्डींग में से कुछ शेअर्स बेचने के बाद शेअर्स का भाव तुरंत गिरकर आपने जिस भाव में खरीदे थे उस भाव के रेंज में आए तो भी आपने कुछ अंश में फायदा बुक किया होता है।

जिन शेअर्स का भाव आपके बेचे हुए शेअर्स के भाव से आगे गया तो भी आपके पास बाकी बचे शेअर्स आपको अधिक फायदा कमाने का मौका देते है। इस से आपका विश्वास और भी दृढ होता है।

हम आशा करते है की हमारी ये बाजार में कब प्रवेश करना चाहिए और कब निकलना चाहिए – How to do Intraday Trading Enter and Exit in Hindi ब्लॉग पोस्ट आपको पसंद आयी होगी अगर आपको शेयर मार्किट से जुड़ा कोई भी सवाल है तो आप कृपया कमेंट में जरूर पूछे।

।। धन्यवाद ।।

Important Links:-

Open Demat & Trading Account in Zerodha – https://zerodha.com/?c=NH6775

75 / 100

7 टिप्पणियाँ

CBD for pain · फ़रवरी 11, 2021 पर 8:40 अपराह्न

If you would like to get a good deal from this article then you have to apply such techniques to your won website.

CBD gummies for sale · फ़रवरी 15, 2021 पर 7:08 अपराह्न

Unquestionably believe that which you said. Your favorite justification seemed to be on the
web the simplest thing to remember of. I say to you, I certainly get irked even as other people consider issues that they just do not recognize about.
You controlled to hit the nail upon the highest and
defined out the entire thing without having side-effects , other people can take a signal.

Will probably be back to get more. Thanks

cbd for dogs with anxiety · फ़रवरी 22, 2021 पर 12:15 अपराह्न

Having read this I believed it was really informative. I appreciate you taking the time and effort to put this information together.
I once again find myself personally spending way too much time
both reading and commenting. But so what, it was still worthwhile!

cbd for dogs · फ़रवरी 23, 2021 पर 12:04 पूर्वाह्न

This is my first time visit at here and i am actually impressed to read everthing at alone place.

best cbd gummies for pain · फ़रवरी 23, 2021 पर 12:07 अपराह्न

I’m really enjoying the design and layout of your website.
It’s a very easy on the eyes which makes it much
more pleasant for me to come here and visit more often. Did
you hire out a developer to create your theme? Fantastic work!

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

hi_INHindi