इस ब्लॉग में हम Market Capitalization क्या है? (What is Market Capitalization in hindi) और Small Cap, Mid Cap & Large Cap क्या होता है? (What is Small Cap, Mid Cap & Large Cap.) ये जानेंगे.

Market Capitalization क्या है (What is Market Capitalization in Hindi)

Stock Market की चाहे कौन सी भी कंपनी ले लो Small Cap , Mid Cap और Large Cap वो इन तीनो मे से एक Category में आती है और भी दो Category है जैसे की Mega Cap & Micro Cap लेकिन उनका ज्यादा इस्तमाल नहीं किया जाता.

CAP मतलब Capitalization. Market Capitalization कंपनी का Agriket valuation दर्शाता है और Market Capitalization से हमें कंपनी की साइज भी पता चलती है.

Market Capitalization Formula = Market Price 1 Share × Number Of Outstanding Shares

For Example:-

मान लेते है की XYZ नाम की कोई कंपनी है जिसके एक Share की Market Price है 1000rs और कंपनी के Outstanding Shares 100000 है.

मतलब XYZ कंपनी का Market Capatilization 10cr है.

What is Small Cap, Mid Cap & Large Cap in hindi.

जिस कंपनी का Market Capitalization 75000cr से ज्यादा है उसे Large Cap कंपनी कहते है Mid Cap कंपनी मतलब वो कंपनी जिस कंपनी का Market Capitalization 13000cr से 75000cr के बिच में होता है जिस कंपनी का Market Capitalization 13000 cr से कम है उसे Small Cap कंपनी कहते है.

Small Cap , Mid Cap और Large Cap का कोई fix criteria नहीं है कुछ साल पहले जिस कंपनी का Market Capitalization 15000cr था उसे Large Cap कंपनी कहा जाता था आज 15000cr वाली कंपनी Mid Cap में आती है.

जादा तर Small Cap कंपनी Start-up या development के शुरवाती दौर में होती है इसलिए इनमे growth possibility तो ज्यादा होती हैं वही failure rate जादा होने का कारण Risk भी ज्यादा होता है.

Small Cap index जैसे की S&P BSE Small Cap वो Small Cap कंपनी के Performance दर्शाता है और Mid cap index जैसे की  S&P BSE Mid Cap और Nifty Mid Cap 50 वो Mid Cap कंपनी के Performance दर्शाता है.

Large Cap कंपनी की बात करे तो Large Cap कंपनी बड़ी और well established कंपनी होती हैं जिनकी बहुत ही strong market presence होती है TCS, INFY, Reliance Industries Ltd, L&T, etc ये सारी Large Cap कंपनी है almost सारी Large Cap कंपनी अपने अपने sector में leader होती है ज्यादा तर Large Cap कंपनी Nifty और Sensex में शामिल है.

Large Cap कंपनी के पास bad time में survive करने के लिए अच्छी खासी financial strength होती है इसी लिए Large Cap कंपनी में invest करना safe माना जाता है.

Small Cap कंपनी के पास bad time में survive करने के लिए financial strength कम होती है इस वजह से Small Cap कंपनी का failure rate भी ज्यादा होता है इसी लिए Small cap कंपनी में Invest करना risky माना जाता है.

एक बात हमेशा याद रखना हर Large Cap कंपनी कभी ना कभी Small Cap या Mid Cap कंपनी थी लेकिन हर Small Cap या MId Cap कंपनी Large Cap नहीं बन पाती.   

धन्यवाद

Important Links :-

Open Demat & Trading Account in Zerodhahttps://zerodha.com/?c=NH6775

82 / 100
Categories: Share Market

3 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *