क्या आपको पता है की Penny Stock क्या है? – Penny Stock in Hindi अगर आपको पता नहीं है तो आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़े.

Penny Stock क्या है? – Penny Stock in Hindi

Penny Stock उसे कहते है जो एक, दो और पांच रूपए में मिलने वाले सस्ते शेयर होते है जब हम शेयर मार्केट में नए होते है तब हम में से ज्यादा तर लोग पैनी स्टॉक्स में ही इन्वेस्ट करते है और हज़ारो रूपए का नुकसान कर शेयर मार्केट से दूर हो जाते है।

जब हम नए होते है तो ज्यादा प्राइस वाले शेयर हमें बोहोत महंगे लगते है इसलिए हम ५०० और १००० रूपए में मिलने वाले शेयर नहीं खरीदते है।

सबसे पहली बात अगर कोई Penny Stock है तो उसका कोई वजह होगी अगर कोई शेयर १ रूपए में मिल रहा है मतलब उस शेयर में जरूर कोई न कोई गड़बड़ी है उस कंपनी में कोई न कोई प्रॉब्लम है तभी तो वो शेयर इतना सस्ता मिल रहा है।

स्टॉक मार्केट में किसी भी शेयर का प्राइस Decide होता है इस बात से की मार्केट उसको कितना पसंद या नापसंद करता है सारे म्यूच्यूअल फण्ड मैनेजर , राकेश झुनझुनवाला जैसे बड़े इन्वेस्टर सारा दिन या सारी जिंदगी निकाल लेते है एक मल्टीबैग्गेर शेयर ढूंढ़ने के लिए।

म्यूच्यूअल फण्ड मैनेजर और मार्केट के एक्सपर्ट्स तो हमसे ज्यादा जानते है अगर Penny Stock १ का २० कर लेना १० गुना या २० गुना पैसा कमा लेना इतना आसान होता तो क्यु ज्यादा तर म्यूच्यूअल फण्ड बड़े स्टॉक जैसे की hdfc, reliance और infosys जैसे स्टॉक में निवेश करते है।

क्यों राकेश झुनझुनवाला जी Titan और Lupin जैसे अच्छे कंपनी में निवेश करते है? वो भी तो आसानी से Penny Stock से पैसा कमा सकते थे ना लेकिन वो ऐसा नहीं करते है।

कुछ लोग बोलते है की आज कोई शेयर का दाम १ रूपए है तो कल वो १०० होगा कुछ दिनों बात हज़ार होगा हर कंपनी धीरे-धीरे ग्रो करती है आज जो शेयर का भाव १ रूपए है कल हज़ार भी हो सकता है ये एक बोहोत बड़ी गलती है जो ऐसा सोचते है।

मार्केट छोटी बड़ी कंपनी देख के नई पुरानी कंपनी देख के शेयर का प्राइस Decide नहीं करता है।

कंपनी भली ही छोटी हो साल के प्रॉफिट भले ही पांच करोड़ हो लेकिन अगर फंडामेंटल अच्छे है कंपनी में डेब्ट ज्यादा नहीं है कंपनी का मैनेजमेंट अच्छा है तो मार्केट उस कंपनी को बोहोत अच्छा दाम देगा।

अगर कंपनी चाहे कितनी भी बड़ी हो लेकिन कंपनी अच्छा मुनाफा नहीं कमाती कंपनी पर डेब्ट बोहोत ज्यादा है तो वो शेयर बोहोत कम दाम पे मिलेगा।

कुछ लोग Penny Stock इसलिए खरीदते है क्युकी शेयर की क्वान्टिटी ज्यादा आती है तो देखिये कितनी क्वान्टिटी मिली है कितने शेयर है इससे कोई फरक नहीं पड़ता फरक इस बात से पड़ता है की आपने पैसा कितना लगाया है क्युकी रिटर्न तो आपको आपके लगाए हुए पैसे पे मिलेगा।

अगर आपको १०० रूपए का शेयर लेना है तो आप १०० रूपए का एक शेयर ले या २० रूपए वाले ५ शेयर ले इस बात से कोई फरक नहीं पड़ेगा ये कुछ ऐसा है की आपके पास १०० का एक नोट है और किसी के पास २०-२० के पांच नोट है।

तो क्या जिस के पास २०-२० के पांच नोट है उसकी पोजीशन अच्छी हो गई और ये भी एक बात गलत है की सस्ते शेयर जल्दी बढ़ते है MRF का शेयर ८ साल पहले १०००० हजार रूपए का था आज वो ८०००० रूपए के करीब है।

तो अगर कंपनी अच्छी है परफॉरमेंस अच्छा रहेगा तो शेयर कितना भी ज्यादा दाम का हो वो बढ़ता चला जायेगा और कई एक रूपए वाले शेयर सालो से हिलते भी नहीं क्युकी उनका बिज़नेस इम्प्रूव नहीं होता।

ये बात भी ध्यान रखना जरुरी है की शेयर सस्ता है या महँगा हमेशा उसके दाम से decide नहीं होता है जैसे कई बार ५० रूपए का शेयर बोहोत महँगा हो सकता है और ५००० का शेयर भी बोहोत सस्ता हो सकता है।

देखिये एक कंपनी है X वो हर साल २० रूपए कमाती है और उसका शेयर आपको १०० रूपए में मिल रहा है यानि की कमाई के ५ गुना में और दूसरी कंपनी है Y जो की हर साल ५०० रूपए कमाती है और उसका शेयर आपको १००० रूपए में मिल रहा है तो आप कोनसा खरीदेंगे X या Y आप जरूर Y खरीदेंगे क्युकी आप ५ गुना ज्यादा नहीं आप २ गुना ज्यादा देना चाहिँगे।

तो हमेशा १०० वाला शेयर सस्ता हुआ या १००० वाला शेयर महँगा हुआ ऐसा नहीं है उसके Earning से decide होता है की वो शेयर सस्ता है या महँगा कुछ शेयर जैसे Eicher Motor और MRF उनकी प्राइस इसलिए इतनी बढ़ जाती है क्युकी वो शेयर को Split नहीं करते और Bonus नहीं देते।

Infosys कई बार Split होता गया और Bonus देता गया अगर Infosys ने शेयर को Split और Bonus नहीं दिया होता तो Infosys का एक शेयर हज़ारो या लाखो रूपए का होता।

बोनस या स्प्लिट से आपको फायदा होता है इससे भी कोई फरक नहीं पड़ता क्युकी आपके पास हज़ार का एक शेयर है और शेयर स्प्लिट हो गया तो आपके पास ५०० के २ शेयर हो जायेंगे।

तो बात तो वही हो गयी ना १००० रूपए के नोट के बदले आपको ५०० के दो नोट दे दिए क्युकी कंपनी का मुनाफा डबल नहीं हुआ सिर्फ आपके शेयर डबल हो गए कंपनी का मुनाफा तो उतना ही है लेकिन शेयर का दाम मुनाफे से बढता है।

बोहोत से लोग Penny Stock में इन्वेस्ट कर के फस जाते है उने पता ही नहीं होता की Penny Stocks बोहोत खतरनाक है इसलिए आप Penny Stock में निवेश करने से पहले हज़ार बार सोचे

हम आशा करते है की हमारी ये (Penny Stock क्या है? – Penny Stock in Hindi) ब्लॉग पोस्ट आपको पसंद आयी होगी अगर आपको शेयर मार्केट से जुड़ा कोई भी सवाल है तो आप कृपया कमेंट में जरूर पूछे।

।। धन्यवाद ।।

Important Links:-

Open Demat & Trading Account in Zerodha – https://zerodha.com/?c=NH6775

82 / 100

3 टिप्पणियाँ

ट्रेडिंग और इन्वेस्टिंग में क्या फर्क है? - Difference Between Trading And Investing In Hindi · जुलाई 8, 2021 पर 11:01 अपराह्न

[…] Penny Stock क्या है? – Penny Stock in Hindi […]

मनी मार्केट और कॅपिटल मार्केट क्या होता है? - Money Market And Capital Market In Hindi · जुलाई 8, 2021 पर 11:04 अपराह्न

[…] Penny Stock क्या है? – Penny Stock in Hindi […]

PhonePe पैसे कैसे कमाता है? - How PhonePe Earn Money In Hindi · जुलाई 12, 2021 पर 2:21 अपराह्न

[…] Penny Stock क्या है? – Penny Stock in Hindi […]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

hi_INHindi