हेल्लो दोस्तों इस ब्लॉग में हम जानेंगे what is share market in hindi, what is Nifty, what is Sensexhow stock market works, share market basics और share market tips in hindi मेरा मानना ये है की share market में invest करो या न करो लेकिन उसकी knowledge आपको जरूर होनी चाहिए.

इस ब्लॉग में निचे दिए गए सारे question के answer आपको मिल जायिंगे

  • what is share market in hindi
  • how stock market works
  • Share market basics
  • What is Nifty and Sensex
  • What is Nifty.
  • What is Sensex
  • What is share market and share holder in hindi
  • What is stock market , stock exchange and share market in hindi
  • how to buy and sell stock
  • How is share price determined
  • what is dividend
  • how to check share performance
  • how to invest money in share market
  • Which share to invest in
  • Share market tips in hindi

    What is share market in hindi

    सबसे पहले आप एक कहानी पढ़िए दो दोस्त है आदित्य और विहान दोनों की कंपनी में जॉब लगी दोनों की सैलरी 50000 per महिना है.

    आदित्य ने अपने 50000 का पूरा प्लान कर लिया एक बढ़िया घर किराये पर ले लिया 20000 रूपए किराया देना शुरू कर लिया महंगी गाड़ी लोन पर ले ली एक महंगा मोबाइल EMI पर ले लिया.

    अब गाड़ी की maintanance मोबाइल का रिचार्ज , पेट्रोल और गाड़ी की maintanance और उसके अपने खर्चा मिलकर तक़रीबन खर्चा 50,000 per महिना बैठ रहा था.

    मतलब उसको कुछ बच नहीं रहा था अब आते हैं वहां की तरफ विहान ने जो घर किराए पर लिया उसका किराया था 10000 रूपए महीना उसको लगा मोबाइल मेरे पास ठीक है बदलने की जरुरत नहीं.

    ऑफिस वो बस में जाता था तो उसके सारे खर्चे कुल मिला के होते थे 25000 per महीना मतलब उसके पास 25000 रूपए बच जाते था इस 25000 को विहान अलग अलग जगह invest कर देता था कुछ FD में कुछ mutual fund और कुछ stock में.

    जो सब के साथ होता हैं वही ही विहान के साथ हुआ लोगो ने ताने मारने शुरू कर दिए तू कैसी जिंदगी जी रहा है आदित्य को देख आदित्य कैसी जिंदगी जी रहा है विहान का भी मन करता था.

    मेरे पास बड़ा घर हो बड़ी गाड़ी हो लेकिन वो मन को समझा लेता था की apna time aayega अब 10 साल जॉब करने के बाद आदित्य के अकाउंट में कुछ खास नहीं बचा क्युकी वो आपने खर्चे बढ़ता गया.

    लेकिन विहान की investment multyply कर गयी अब उसने अपनी कुछ investment बेच के अपना बिज़नेस खोल लिया अब उसके पास अपना घर , अपनी गाड़िया , आपने कुछ employe है  क्यों क्योकि उसने आपने पैसे को काम पे लगाया खर्चे पे नहीं.

    दोस्तों कितना जरुरी है इस आदत का होना पैसे को बचाने की आदत उसको invest करनी की आदत जहा आदित्य आज भी उसी कंपनी काम कर रहा है विहान ने 10 साल strugal करी लेकिन वो relax भी कर रहा है तो उसका पैसा grow कर रहा है.

    अपने पैसे को कैसे investment करना आज में आपको बताने वाला हु वो है stock और share market in hindi लेकिन ये जो word है stock market और share market ये word सुनते ही कुछ लोगो को confusing लगता है की खबरों में कई बार देखा है.

    उतार और चढ़ाव लेकिन समझ नहीं आता और कुछ लोगो को ये मुश्किल लगता है हम कर पायिंगे या नहीं ? और कुछ लोगो को ये जुआ लगता है.

    कही loss न होजाय ? पर वही बोहोत से लोग है जिन्होने इसको समझा इसका knowledge लिया और इस से फायदा लेते हैं उनके लिए मुश्किल नहीं है कन्फुसिंग नहीं है और जुआ नहीं है.

    Share Market basics.

    1992 में ( SEBI )security exchange Board of India के बनने के बाद company को इसमें लिस्ट किया गया बोहोत से positive changes इसके अन्दर आये अब तो ये बोहोत आसान हो गया है मोबाइल के एक क्लिक से हो सकता है लेकिन मैं आपको details में समझूँगा so that आपके concept क्लियर हो.

    What is Nifty and Sensex in hindi.

    इंडिया में दो stock exchange है BSE और NSE ये दो मुख्य stock exchange है stock exchange एक market होता है.

    जहां share खरीदने वाले और share बेचने वालो के बिच shares का लेन देन होता है Nifty और Sensex दोनों भी indexes है Sensex BSE का मेंन index है और Nifty  NSE का मेंन index है यानी मुख्या निर्देश अंक है. 

    BSE पर 5000 से ज्यादा कंपनी लिस्टेड है और NSE पर 1700 से ज्यादा कंपनी लिस्टेड है और market का हाल जानने के लिए इन सारे कंपनी को ट्रैक करना मुश्किल है.

    इसीलिए index बनाए गए इंडिया में share market का हाल जानने के लिए आपको सारे कंपनी के stock को ट्रैक करने के लिए कोई जरुरत नहीं बस Nifty और sensex देख कर आप पता कर सकते हो की आज market up है या down है.

    जब Sensex और Nifty up होते है यानि हरे निशान में होते है तब हम कहते है कि share market up है जब Sensex और Nifty लाल निशान में होते है तब हम कहते है कि share market down है.

    जैसे blood रिपोर्ट्स petant की सेहद की जानकारी देते है उसी तरह Nifty और Sensex इंडियन share market की सेहद बताते है.

    अगर Nifty और Sensex आज ग्रीन यानि हरे निशान में है उसका मतलब है Nifty और Sensex आपने कल की या पिछले treading day की closing value से ऊपर है.

    यानि कल या पिछले treading day पर Nifty और Sensex जहा बंद हुए थे उससे आज ऊपर है अगर Nifty और Sensex आज लाल निशान में है तो उसका मतलब है Nifty और Sensex आपने कल की या पिछले treading value से आज निचे है.

    What is Sensex in hindi.

    Sensex ये शब्द Sensitive और index इन दो शब्दो को मिला के बना है Sensex में अलग अलग sector के 30 अच्छे ट्रैक रिकॉर्ड वाली कंपनी शामिल है जिसका मतलब है Sensex की movement इन 30 कंपनी के Share की price movement पर depend होती है.

    What is Nifty in hindi.

    Nifty ये शब्द National और Fifty इन दो शब्दो को मिला के बना है Fifty इसलिए क्युकी Nifty में 50 कंपनी शामिल है Nifty में अलग अलग sector की 50 बड़ी और अच्छे ट्रैक रिकॉर्ड वाली कंपनी शामिल है.

    जिसका मतलब है Nifty की Movement इन 50 कंपनी के Share की price Movement पर depend होती है.

    Nifty जो की NSE का मुख्या index है उसे Nifty50 के नाम से भी जाना जाता है simple भाषा में बात करूँ तो Sensex की Movement Sensex में शामिल 30 stock के performance पर depend होती है वही Nifty की Movement Nifty में शामिल 50 stock के performance पर depend होती.

    Nifty और Sensex में अलग अलग sector की नामी, बड़ी और आपने आपने sector की लीडर कंपनी शामिल होती है और ये कंपनी लग भग सारे अलग अलग sector से चुनी गयी होती है.

    इस तरह Nifty और Sensex में अलग अलग sector भी cover हो जाते है इसी लिए Nifty और Sensex का जो performance है वही stock market का performance समझा जाता है.

    stock Exchange के और भी सारे indexes होते है NSE और BSE पर almost सारे sector की अलग indexes है sectorial indices में उसे particular sector की established कंपनी शामिल होती है.

    अगर आपको सिर्फ banking sector को ट्रैक करना है यानि Banking sector कैसे perform कर रहा है ये जान न है तो उसके लिए आप BSE के BANKEX या NSE के Bank Nifty इन indices को देख कर आप Banking sector का हाल जान सकते हो.

    stock Exchange पर Small Cap और Mid Cap के भी indices होते है जैसे की S&P BSE Small Cap और S&P BSE Mid Cap / NIFTY Mid Cap fifty etc.जहां पर आप small cap और midcap का हाल जान सकते हो.

    अगर Nifty और Sensex में शामिल कोई stock लगा तार खराब performance करता है तो stock Exchange उस stock को index से निकल कर उसे किसी well establish और consistant performance stock से Replace कर सकते है.

    ये फैसला stock Exchange खुद लेता है जैसे की 2016 में Caim india , Vedanta और PNB को Nifty से निकल कर उनकी जगह पर Aurobindo pharma , Bharti Infratel और Eicher Motor को Nifty में ऐड किया था.

    जिस तरह Nifty और Sensex देख कर इंडिया का हाल जान ले टे हो उसी तरह फोरियन कंट्री के stock market का हाल आप उस contry के stock Exchange के मुख्या index को देख कर जान सकते हो.

    What is share market and share holder in hindi.

    में आपको एक example के थ्रू आपको समझाता हु इससे समझने में आसानी होगी एक कंपनी है जो उसक company को expand करना चाहती है अपने कंपनी को बढ़ाना चाहती है expand करने के लिए उसको पैसा चाहिए.

    पैसा हासिल करने के कई तरीके हैं एक तरीका उसके पास है लोगो से पैसा ले यानि की पब्लिक से पैसा ले और बदले में कुछ हिसा कंपनी का पब्लिक में बाट दे.

    जब वो कंपनी ऐसा करने का सोचती है तो IPO निकालती है मतलब Initial Public Offering (IPO) पब्लिक को ऑफर कर दिया अगर आपने पैसे खर्च करके उस कंपनी में से कुछ हिस्सा ले लिया यानि हिस्सा है वह share और आप बन गए हिस्सेदार मतलब आप बन गए उस कंपनी के अंन्दर share holder.

    What is stock market , stock exchange and share market and how stock market works in hindi.

    एक example के साथ समझाता हु  एक फार्मा कंपनी है दवाईयो की कंपनी है उसको चाहिए 10 लाख रूपए  तो उसने 100 रूपए की 10000 share market में issue कर दिए.

    आपने 100 रूपए वाले 10 share ले लिए 100*10 मतलब आपने 1000 रूपए दे कर 1000 रूपए की हिसेदारी ले ली आप share holder बन गए.

    आपके पास 10 shares उस कंपनी के आगये अभी ये जो फार्मा कंपनी है न ये grow कर रही है profit कमा रही है.

    मतलब कंपनी की value बढ़ रही है अब आप भी तो इसमें हिसेदार हो आपका भी तो share है जिसकी value बढ़ रही है आपका 100 रूपए वाला share अब कुछ टाइम में हो गया 150 रूपए का अब आपको लग रहा है की आपको पैसा चाहिए.

    आप पैसा निकलना चाहते हो या फिर आपको लगता है की ये कंपनी और ग्रो नहीं कर सकती तो आप ने सोचा मैं इस share को बेच देता हु.

    तो आप company को वापस share नहीं बेच पाओगे कंपनी ने तो वो पैसा कही लगा दिया अपने expansion में तो आप जिस जगह जाकरआप इस share को बेच सकते हो जो आपके share की market है जो बाजार है उसको कहते stock market , share market या stock exchange भी कहते हैं.

    how to buy and sell stock in hindi.

    अगर आपको किसी भी कंपनी का stock खरीदना है या किसी भी कंपनी का stock बेचना है ये दोनों चीज होती है stock market में stock exchange में इंडिया में दो stock exchange है (BSE) Bombay Stock Exchange और (NSE) National Stock Exchange कही बार खबरों में नाम सुना होगा BSE और NSE.

    जब भी कोई कंपनी अपने share issue करती है ये Stock Exchange में लिस्ट हो जाती हैं अब आपने देखा कि इस साल मानसून बहुत बढ़िया होने वाली है मतलब बारिश बोहोत अच्छी होने वाली है मतलब खेती बढ़िया होने वाली है fertilizer कंपनी को फायदा होने वाला है

    तो अब आप wait नहीं करोगे न fertilizer company कब अपना IPO निकाले कब वो public को offer करें न जाने कब करें तो आप stock exchange में जाकर fertilizer company के share खरीद सकते हो और share holder बन सगते हो.

    How is share price determined in hindi.

    Share के उतार और चढ़ाव को आप अच्छी तरह से समझ सकते हो जैसे सब्जी मंडी में होता है किसी सब्जी की मानलो प्याज की demand ज्यादा है Supply कम है मतलब प्याज लिमिटेड है.

    लेकिन खरीदने वाले बोहोत है तो क्या होता है ? प्याज का rate ऊपर चले जाता है लेकिन अगर प्याज की Supply बोहोत है प्याज पड़ा हुआ है लोग खरीदने वाले नहीं है तो क्या होता है प्याज का rate कम हो जाता है.

    इसी तरह से जब किसी share की demand  बढती है और Supply ज्यादा नहीं है demand  बढती जा रही है बोहोत लोग उस share को खरीद रहे है.

    तो उस share का rate ऊपर जाता है और अगर उस share को सब बेचना शुरू कर देते मतलब उस share को खरीदने वाले ज्यादा नहीं है बेचने वाले ज्यादा है तो उस share का rate कम हो जाता है इस उतार चढ़ाव से कई लोग फायदा लेते है और पैसा कमाते है.

    What is dividend in hindi.

    आपने किसी कंपनी के share ख़रीदे हो और उस कंपनी को extra profit हुआ कई बार वो कंपनी अपना extra profit अपने share holder में बाट देती है जिसको dividend कहते है.

    ये dividend Cash की फॉर्म में हो सकता है या फिर extra share की फॉर्म में हो सकता हैं इस चीज की knowledge होना भी आपके लिए बहुत जरुरी है ये dividend कैसे काम करता है.

    जिस share holder ने 1980 में wipro में 10,000 रुपये लगाये 100 share खरीदा आज 39 साल के बाद वो share कितना बढ़ चुके हैं वो 5,00,000 गुना बढ़ चुकी है 5,00,000 गुना मतलब समझते हो आज वो share 500 करोड़ रुपये के हो चुके हैं.

    राकेश झुनझुनवाला share market के थ्रू stock market के थ्रू 300 करोड़ डॉलर्स से ज्यादा कमाया है.

    how to check share performance in hindi.

    किसी भी share की performance देखनी है तो बोहोत आसन है सबका मालिक एक Google.com google पर जाओ उस share का नाम लिखो उस share की details आपको दिख जाये.

    आप उस share का 1 दिन , 5 दिन , 1 month , 6 month ,1 year , 5 year जैसी performance  चेक कर सकते अगर आप एक दिन का performance देखिंगे तो आपको बहुत उतार चढ़ाव इस share में दिखिंगे.

    लेकिन अगर आप 1 month या फिर 6 month या फिर उस से ज्यादा का performance देखेंगे तो आपको समज आये गा की इस कंपनी की ग्रोथ कैसी हो रही है आप इस share से कमा पाओगे या नहीं ये performance देखके आपको समझ आ जायेगा.

    how to invest money in share market.

    Stock market में invest करने के लिए आपको किसी बाजार में नहीं जाना पड़ता किसी को मिलना नहीं पड़ता है कोई course या degree नहीं चाहिए आज के time पे बहुत ही आसान मोबाइल apps के थ्रू हो जाता है आपको चाहिए होता है demat और treading account .

    Demat और treading account  बोहोत जरुरी है अगर आपको share market में पैसा लगाना है ये demat और treading account  आपके सेविंग बैंक account से लिंक हो जाता है और उधर से (NSE) National Stock Exchange और  (BSE) Bombay Stock Exchange से लिंक हो जाता है.

    आप किसी भी बैंक के थ्रू ब्रोकर्स के थ्रू एक fee भर के demat और treading account  खोल सकते हो.

    Which share to invest.   

    आपको पता होना चाहिए कि share कैसे choose करना है वैसे तो TV channels , broker , expert सब आपको guide करते है लेकिन आपको पता होना चाहिए कि share कैसे choose करना है.

    जैसे जब आप  property लेते हो तब देखते है न property की लोकेशन कैसा है future कैसा है property area past में कैसा रही है और जिस property को सोच समझ के लेता उसका rate बढ़ने के chance ज्यादा होते हैं और जो ऐसे ही invest कर दिया होता है.

    वहां loss होने के chance ज्यादा होते है इसी तरह से share लेने से पहले आप देखो की कंपनी की past performance  कैसी रही है.

       Share लेने से पहले कोनसी बातों का ध्यान रखना चाहिए .

    Company’s performance

    1. REVENUE :  कंपनी revenue मेकिंग profit मेकिंग रही है या loss मेकिंग रही है.

    • SALES       :  कंपनी का sales कैसा चल रहा है कंपनी का future कैसा है.

    • FUTURE PROJECTION :  जो product में कंपनी डील कर रही जो सर्विस में कंपनी डील कर रही है उसका future कैसे होगा.

    • DIVIDENDS :  कंपनी ने कैसे dividend दिए है तो मुझे कैसा benefit इस कंपनी में invest करके हो सकता है.

    इसी तरह के कई points है जिन पर आप research कर सकते हो और अब आप जब किसी कंपनी का share खरीदते हो और एक दिन के अन्दर अन्दर बेच देते हो उसको Intraday investment कहते है.

    अगर आप share को कुछ दिन रखते हो कुछ हफ्ते रख लिया या एक दो महीने रख लिया इसको short-term investment कहते है अगर आपने उस share को minimum 6 महीने रखा 6 महीने तक नहीं बेचा उसके बाद कभी भी बेचते हो उसको long-term investment कहते है.

    हमने अभी तक ये समझ लिया share क्या होता है share holder क्या होता है stock market क्या होती है कौन सी चीज का ध्यान रखना चाहिए invest करने वक़्त कैसे invest किया जाता है कैसे returns बढ़ाई जा सकती है अब ये भी समझना होगा की कौन सी चीज है जो नहीं करनी कौन सी चीजों का ध्यान रखना है.

    Share market tips in hindi.  

     Only invest your surplus money :  Share market में वो पैसा invest करो जो आपके लिए surplus है मतलब extra money invest करो.

    अपनी risk taking capacity के हिसाब से यानि जितनी amount का risk आप ले सकते हो जोष में जूनून में जरुरत से ज्यादा पैसा लगाके लालच करके नुकसान हो सकता है.

     Start gradually to minimize losses :                                                                                                     शुरू में हर कोई गलतियां करता है शुरू में loss हो सकता है इसीलिए शुरुवात धीरे धीरे करो छोटी छोटी करो.  

     Keep learning & training yourself :                                                                                                आँखे बंद करके risk लेना और risk लेना दोनों में difference है जहां फायदा है वह risk ज्यादा है business हो या investment हो लेकिन सोच समज के भी तो risk लिया जा सकता है.

    expert की advise लो experiance लोगो से सुनो लेकिन साथ में खुद को भी train करते रहो expert training आपने आप को देते रहो so that आपकी knowledge भी बढ़ती जाये.

    तो अगर आप stock में invest करना चाहते है learning experience लेना चाहते अपने पैसे को बढ़ाना चाहते तो किसी बैंक के थ्रू किसी broker के थ्रू आप demat और treading account  खुलवा लीजिये.

    एक बात जरूर कहना चाहूंगा आपनि invetment को हमेशा diversify करो इस आदत को दालो saving करना और अलग अलग जगह invest करना है.

    अगर stock में invest कर रहे हो तो अलग अलग stock में invest करो इससे आप अपने risk को कम कर पाओगे और profit के chances बढ़ा पाओगे सीखते रहोगे invest करते रहोगे grow करते रहोगे.

    आपने पैसे को काम पे लगाते रहोगे तो अपने लिए अपने सपनो के लिए अपने परिवार की सुरक्षा के लिए आदित्य की तरह पैसे को उड़ाओ नहीं विहान की तरह पैसे को बचाओ और उसको काम पे लगाओ और सीखते जाओ आगे बढ़ते जाओ.

    Thank you

    Important Links :-

    80 / 100

    7 टिप्पणियाँ

    neeraj swami · फ़रवरी 3, 2020 पर 7:14 पूर्वाह्न

    VERY Useful And Informative.
    I Am Visiting Your Site The First Time, Now I Just Read Several Posts All Are Awesome.
    Thanks, Keep Helping People

    प्रातिक्रिया दे

    आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

    hi_INHindi