स्टॉक ऑप्शन क्या है? – What is Stock Options in Hindi

Table of Contents

स्टॉक ऑप्शन व्यक्तिगत स्टॉक का ऑप्शन है। स्टॉक ऑप्शन के कॉन्ट्रैक्ट में खरीदार को शेअर्स खरीदने का या बेचने अधिकार मिलता है परंतु निश्चित की गई किमत पर वह शेअर्स खरीदने या बेचने की जिम्मेदारी उन पर नही होती है।

स्टॉक ऑप्शन का उपयोग – Use Of Stock Options in Hindi.

सट्टेबाज और हेजर्स स्टॉक ऑप्शन का उपयोग करते है।

स्पेक्युलेशन – Stock Options Speculation in Hindi.

स्टॉक के ऑप्शन का उपयोग सट्टा करने के लिए निचे दिखाए तरिके से किया जाता है।

१. शेअर में तेजी हो तो कॉल ऑप्शन खरीदिए अथवा पुट ऑप्शन बेचिए (Bullish Stock : Buy Calls or Sell Puts):

एक सट्टेबाज ऐसा मानता है कि किसी कंपनी के शेअर्स का भाव जितना होना चाहिए उससे कम है और आगामी दो या तीन महिनों में उनका भाव बढ सकता है।

इस स्थिति में वह स्पॉट बाजार में शेअर्स खरीद सकता है या उसके फ्युचर्स का कॉन्ट्रैक्ट खरीद सकता है। यह आयोजन के लिए सट्टेबाज

ऑप्शनस् का उपयोग भी कर सकता है। वह कॉल ऑप्शन खरीद सकता है या पुट ऑप्शन बेच सकता है।

उदाहरण (Example):

एक सट्टेबाज ऐसा मानता है कि, आगामी दो या तीन महिनों में हिन्दुस्तान लिवर के भाव में सुधार होगा। ऐसी स्थिति में उसके पास निचे दर्शाए पर्याय उपलब्ध है।

निवेशक हिन्दुस्तान लिवर के २०० शेअर्स रू.१५० के भाव से खरीदता है। इसके लिए उसे रू. ३०,००० का निवेश करना पड़ता है।

मानो की हिन्दुस्तान लिवर के शेअर्स का भाव बढने का उसका अंदाजा सही साबित हुआ और तीन महिनो के बाद हिन्दुस्तान लिवर के शेअर्स का भाव रू.१७५ हो गया।

अब यह शेअर्स बेचकर उसे रू. ५,००० की कमाई, रू. ३०,००० के निवेश पर होती है याने कि उसे १६.६ प्रतिशत की कमाई होती है।

सट्टेबाज यह कमाई, हिन्दुस्तान लिवर के कॉल ऑप्शन खरीदके या पुट ऑप्शन बेचके भी कर सकता है।

केस १: कॉल ऑप्शन की खरीदी (Buy Calls):

हम ऐसा अनुमान करते है कि हिन्दुस्तान लिवर के रू.१५० के स्ट्राईक प्राईज के एटीएम कॉल ऑप्शन का ट्रेडींग रू. १८ के भाव पर हो रहा है। सट्टेबाज ने इस स्ट्राईक के २०० कॉल ऑप्शन खरीदे जिसके लिए उसे रू. १८ x २०० = रू ३६०० का प्रीमियम चुकाना पड़ता है।

मानो की हिन्दुस्तान लिवर के शेअर्स का भाव बढने का उसका अंदाजा सही साबित हुआ और तीन महिनो के बाद हिन्दुस्तान लिवर के शेअर्स का भाव रू.१७५ हो गया।

इस स्थिति में, जमा किए कॉल ऑप्शन के प्रीमियम को घटा देने पर उसे रू.१४०० [((१७५ – १५०) – १८) x २००] की कमाई होती है।

सिर्फ ३६०० रूपए के निवेश पर उसे यह कमाई होती है याने कि उसे ३८.८ प्रतिशत की कमाई होती है।

पर अगर उसका अंदाजा गलत साबित हुआ और हिन्दुस्तान लिवर का भाव गरकर रू.१४० हो गया तो इस स्थिति में सट्टेबाज कॉल को एक्सपायर होने देता है और उसे रू ३६०० का नुकसान सहन करना पड़ता है।

केस २: पुट ऑप्शन की बिक्री कीजिए (Sell Puts):

हम ऐसा अनुमान करते है कि हिन्दस्तान लिवर के रू.१५० के स्ट्राईक प्राईज के एटीएम पुट ऑप्शन का ट्रेडींग रू. १८ के भाव पर हो रहा है। सट्टेबाज ने इस स्ट्राईक के २०० पुट ऑप्शन बेचे जिसके लिए उसे रू. १८x २०० = रू ३६०० का प्रीमियम मिलता है।

मानो की हिन्दुस्तान लिवर के शेअर्स का भाव बढने का उसका अंदाजा सही साबित हुआ और तीन महिनो के बाद हिन्दुस्तान लिवर के शेअर्स का भाव रू.१७५ हो गया। इस स्थिति में, पुट

ऑप्शन का खरीददार उस ऑप्शन को एक्सपायर होने देता है और सट्टेबाज को रू. ३६०० की कमाई होती है।

पर अगर उसका अंदाजा गलत साबित हुआ और हिन्दुस्तान लिवर का भाव गरकर रू.१४० हो गया तो इस स्थिति में पुट ऑप्शन का खरीददार उस ऑप्शन को अमल (एक्ससाईझ) करता है

जिस से सट्टेबाज को स्पॉट भाव और स्ट्राईक प्राईज के फर्क के प्रमाण में नुकसान सहन करना पड़ता है।

नुकसान की कुल रकम में से प्रीमियम की रकम को घटाना पडता है, क्योंकि प्रीमियम की रकम उसे पहले ही मिली होती है।

२. शेअर में मंदी हो तो पुट ऑप्शन खरीदिए अथवा कॉल ऑप्शन बेचिए (Bearish Stock: Buy Puts or Sell Calls):

एक सट्टेबाज ऐसा मानता है कि किसी कंपनी के शेअर्स का भाव जितना होना चाहिए उससे अधिक है और आगामी दो या तीन महिनों में उनका भाव गिर सकता है।

एसी स्थिति में सट्टेबाज के पास अगर वह शेअर्स है तो वह उसे बेचकर फायदा बुक कर सकता है और बादमे भाव गिरने पर उन्हें फिर से खरीद सकता है।

अगर उसके पास इन शेअर्स का होल्डींग नही है तो ऐसे वक्त वह उस शेअर्स के फ्युचर्स के कॉन्ट्रॅक्ट की बिक्री कर सकता है और भाव निचे आने पर फिर से उन्हे खरीद सकता है।

यह आयोजन के लिए सट्टेबाज ऑप्शन का उपयोग भी कर सकता है। वह पुट ऑप्शन खरीद सकता है या कॉल ऑप्शन बेच सकता है।

उदाहरण (Example):

एक सट्टेबाज ऐसा मानता है कि मारूती कंपनी के शेअर्स का भाव आगामी दो से तीन महिनों में बहुत निचे आनेवाला है।

ऐसी स्थिति में वह मारूती के पुट ऑप्शन की खरीदी कर सकता है या कॉल ऑप्शन की बिक्री कर सकता है।

केस १: पुट ऑप्शन की खरीदी। (Buy Puts):

स्पॉट बाजार में मारूती के शेअर्स का भाव रू. ८०० है। मारूती के रू. ८०० के स्ट्राईक प्राईज के एटीएम प्ट ऑप्शन का ट्रेडींग रू. ४ के भाव पर हो रहा है।

सट्टेबाज ने इस स्ट्राईक के १०० पुट ऑप्शन खरीदे जिसके लिए उसे रू. ४x १०० = रू ४०० का प्रीमियम चुकाना पड़ता है।

मानो की मारूती के शेअर्स का भाव गिरने का उसका अंदाजा सही साबित हुआ और तीन महिनो के बाद मारूती के शेअर्स का भाव रू. ७८० हो गया।

इस स्थिति में, जमा किए पुट ऑप्शन के प्रीमियम को घटा देने पर उसे रू.१६०० [((८०० – ७८०) – ४) x १००] की कमाई होती है। सिर्फ ४०० रूपए के निवेश पर उसे यह कमाई होती है याने कि उसे ४०० प्रतिशत की कमाई होती है।

पर अगर उसका अंदाजा गलत साबित हुआ और मारूती का भाव बढ़कर रू. ८२० हो गया तो इस स्थिति में सट्टेबाज पुट को एक्सपायर होने देता है और उसे रू ४०० का नुकसान सहन करना पड़ता है।

केस २: कॉल ऑप्शन बेचिए (Sell Calls):

स्पॉट बाजार में मारूती के शेअर्स का भाव रू. ८०० है। मारूती के रू. ८०० के स्ट्राईक प्राईज के एटीएम कॉल ऑप्शन का ट्रेडींग रू. ८ के भाव पर हो रहा है।

सट्टेबाज ने इस स्ट्राईक के १०० कॉल ऑप्शन बेचे जिसके लिए उसे रू. ८x १०० = रू ८०० का प्रीमियम मिलता है।

मानो की मारूती के शेअर्स का भाव गिरने का उसका अंदाजा सही साबित हआ और तीन महिनो के बाद गिरने के शेअर्स का भाव रू.७८० हो गया।

इस स्थिति में, कॉल ऑप्शन का खरीददार उस ऑप्शन को एक्सपायर होने देता है और सट्टेबाज को रू. ८०० की कमाई होती है।

पर अगर उसका अंदाजा गलत साबित हुआ और मारूती का भाव बढ़कर रू. ८२० हो गया तो इस स्थिति में कॉल ऑप्शन का खरीददार उस ऑप्शन को अमल (एक्ससाईझ) करता है

जिस से सट्टेबाज को स्पॉट भाव और स्ट्राईक प्राईज के फर्क के प्रमाण में नुकसान सहन करना पडता है। नुकसान की कुल रकम में से प्रीमियम की रकम को घटाना पडता है, क्योंकि प्रीमियम की रकम उसे पहले ही मिली होती है।

हेजिंग – Stock Options Hedging in Hindi.

स्टॉक के ऑप्शन का हेंजिग करने के लिए निचे दिए गए तरीके से उपयोग किया जाता है।

आपके पास शेअर्स है तो पुट ऑप्शन खरीदिए (Have Stock, Buy Puts):

एक निवेशक ने कुछ शेअर्स में दिर्घ समय के लिए निवेश किया है और उसे ऐसा लगा की नजदीकी भविष्य में शेअर्स के भाव में चढाव उतार निमार्ण हुआ तो उससे उसके निवेश के सामने जोखीम खडा रह सकता है और वह उसे कम करना चाहता है

तो इसके लिए उसे अपने निवेश का हेजिंग करना पडेगा। हेजिंग करने के लिए उसे स्टॉक फ्युचर्स में बिक्री करनी पडती है। पुट ऑप्शन की खरीदके भी वह इस निती पर अमल कर सकता है।

उदाहरण (Example):

बीएचईएल के १००० शेअर्स एक निवेशक के पास है। तीन महिनो की कालावधी में यह शेअर्स बेचने का वह विचार करता है क्योंकि उसे नया घर खरीदने के लिए कुछ रूपयों की जरूरत है।

फिलहाल स्पॉट बाजार में बीएचईएल के शेअर्स का भाव रू.१९२५ के आसपास है। आगामी तीन महिनो में स्पॉट बाजार में बीएचईएल का भाव शायदा निचे आएगा ऐसा निवेशक को डर लगता है।

इस तीन महिनो के आखिर में उसे सच में पैसो की जरूरत होगी। इस स्थिति में वह आज ही उसके शेअर्स की बिक्री करके उस पर का फायदा बुक कर सकता है।

परंतु शेअर का भाव उपर जाने से होनेवाले अधिक फायदे का मौका वह गवाना नही चाहता। इसीलिए वह बीएचईएल के पुट ऑप्शन की खरीदी करता है।

मानो की वह रू.१९५० के भाव पर पुट ऑप्शन की खरीदी करता है। उसका ट्रेडींग रू.३० के प्रीमियम पर हो रहा है।

केस १: बीएचईएल का भाव गिरकर रू.१८२५ होता है (Price of BHEL Falls to 1825):

तीन महीनो के अंत में बीएचईएल का भाव गिरकर रू. १८२५ हुआ तो उसे प्रति शेअर १०० रूपयों का नुकसान सहना पडेगा। परंतु उसने रू.१९५० के पुट ऑप्शन की खरीदी की है।

इसके लिए उसने ३० रूपए प्रीमियम दिया है। फिलहाल उसका ट्रेडींग रू.१२५ के प्रीमियम पर होता है। इस स्थिति में उसे प्रति शेअर्स [(-१००) + (१२५ – ३०) ] = ५ रूपयों का घाटा होगा। याने बीएचईएल के हर शेअर के पिछे उसे १९२० भाव मिलेगा।

केस २: बीएचईएल का भाव बढकर रू.२० २५ होता है (Price of BHEL Rises to 2025):

तीन महिनो के अंत में बीएचईएल का भाव बढकर रू. २०२५ हुआ तो इस स्थिति में वो ऑप्शन एक्सपायर हो जाता है और उसे प्रति शेअर प्रीमियम के ३० रूपयों का नुकसान होता है।

परंतु स्पॉट बाजार में उसे प्रति शेअर (२०२५ – १९२५) = १०० रूपयों का मुनाफा होता है। इस वजह से उसे प्रति शेअर (१०० – ३०) = ७० रूपयों की अधिक कमाई हासिल होती है।

।। धन्यवाद ।।

Important Links:-

Open Demat & Trading Account in Zerodha – https://zerodha.com/?c=NH6775

75 / 100
श्रेणी: Share Market

4 टिप्पणियाँ

इंडेक्स ऑप्शन क्या है? - What Is Index Options In Hindi. · दिसम्बर 15, 2020 पर 9:01 अपराह्न

[…] […]

फ्युचर्स और ऑप्शन के कॉन्ट्रॅक्ट स्पेसिफिकेशन - Future And Options Contract Specification In Hindi. · मार्च 4, 2021 पर 4:08 अपराह्न

[…] व्यक्तिगत स्टॉक ऑप्शन – Stock Options in Hindi. […]

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

hi_INHindi